Kahin Door Jab Din Dhal Jaye Lyrics – Anand

Kahin Door Jab Din Dhal Jaye Lyrics :- Latest Bollywood Song Kahin Door Jab Din Dhal Jaye from the movie Anand.Song sung by Mukesh &  lyrics written by Yogesh.Music given by Salil Chowdhury & featuring Rajesh Khanna, Amitabh Bachchan.This song published by Gaane Sune Ansune.  

Kahin Door Jab Din Dhal Jaye Lyrics


Kahin Door Jsn Din Dhal Jaye Lyrics Details:-

Song: Kahin Door Jab Din Dhal Jaye
Singer: Mukesh
Lyricist: Yogesh
Music: Salil Chowdhury
Featuring Stars: Rajesh Khanna, Amitabh Bachchan
Movie: Anand
Music Label: Gaane Sune Ansune

 

Kahin Door Jsn Din Dhal Jaye Lyrics

Kahin Door Jab Din dhal Jaye
Sanjh Ki Dulhan Badan Churaye
Chupke Se Aaye
Mere Khayaalon Ke Aangan Mein
Koi Sapnon Ke Deep Jalaaye

Kabhi Yun Hi Jab Hui Bojhal Saansen
Bhar Aai Baithe Baithe Jab Yun Hi Aankhen
Kabhi Machal Ke Pyar Se Chal Ke
Chhuye Koi Mujhe Par Nazar Na Aaye
Kahin Door…

Kahin To Yeh Dil Kabhi Mil Nahin Paate
Kahin Pe Nikal Aaye Janmon Ke Naate
Thami Thi Uljhan Bairi Apna Man
Apna Hi Hoke Sahe Dard Paraaye
Kahin Door…

Dil jane mere sare bhed ye gahre
Ho gaye kaise mere sapne sunhare
Ye mere sapne yahi to he apne
Mujse juda na honge inke ye saye
Kahin Door…

Kahin Door Jsn Din Dhal Jaye Lyrics In Hindi

कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन
चुराए, चुपके से आए
कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन
चुराए, चुपके से आए

मेरे ख़यालों के आँगन
में
कोई सपनों के दीप जलाए,
दीप जलाए
कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन
चुराए, चुपके से आए

कभी यूँ ही जब हुई बोझल
साँसें
भर आई बैठे-बैठे जब यूँ
ही आँखें
कभी यूँ ही जब हुई बोझल
साँसें
भर आई बैठे-बैठे जब यूँ
ही आँखें

तभी मचल के, प्यार से चल
के
छुए कोई मुझे, पर नज़र ना
आए, नज़र ना आए
कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन
चुराए, चुपके से आए

कहीं तो ये दिल कभी मिल
नहीं पाते
कहीं पे निकल आएँ
जन्मों के नाते
कहीं तो ये दिल कभी मिल
नहीं पाते
कहीं पे निकल आएँ
जन्मों के नाते

है मीठी उलझन, बैरी अपना
मन
अपना ही हो के सहे दर्द
पराए, दर्द पराए
कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन
चुराए, चुपके से आए

दिल जाने मेरे सारे भेद
ये गहरे
खो गए कैसे मेरे सपने
सुनहरे
दिल जाने मेरे सारे भेद
ये गहरे
खो गए कैसे मेरे सपने
सुनहरे

ये मेरे सपने, यही तो हैं
अपने
मुझसे जुदा ना होंगे
इनके ये साए, इनके ये साए
कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन
चुराए, चुपके से आए

मेरे ख़यालों के आँगन
में
कोई सपनों के दीप जलाए,
दीप जलाए
कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन
चुराए, चुपके से आए

Kahin Door Jsn Din Dhal Jaye Lyrics Video

 

Leave a Comment